हायकू's image
Share0 Bookmarks 7 Reads0 Likes

हायकू




1. जीवन दान

प्रभू का वरदान

होगा कल्यान।


2. कर हूंकार

मेघ करे गर्जन

बरस जाए।


3. मैं भटकता

बेमकसद रहा

दर बदर।


4. मन ने पाया

प्रेम का पुरस्कार

बेवफायी है।


5. दरबदर

होकर परेशान

तुमको पाया।


6. खुद भटके

बियावान ले जाए

कश्मकश।


7. घना कोहरा

कदमों की चाल से

हटता जाता।


8. डाल डाल पे

कुकी कोयल, छाई

दिल दिल पे।


9. हिस्से की रोटी

बाप रख, गुजरा

बाँध के मुट्ठी।


10. देता आराम

    महल सपनों का

    न कोई काम।


11. प्रेम तराना

मधुर, सलामत

है आबोदाना।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts