वृक्ष  ' हैरान ''s image
Poetry1 min read

वृक्ष ' हैरान '

Rajeev Kumar SainiRajeev Kumar Saini August 28, 2021
Share0 Bookmarks 49 Reads0 Likes

दिए जगत को वृक्ष ने ,

फल फूल पत्र और छाँव ,

परोपकार में उसका जीवन ,

झरना सा बह गया ।

पशु, पक्षी ,मनुष्य , सभी में ,

उसने जीवन संचार किया ,

फिर देह भी दान कर दी ,

निढ़ाल होकर ढह गया । 

- राजीव ' हैरान '

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts