सब्र  ' हैरान ''s image
Share0 Bookmarks 30 Reads0 Likes

काश हम तुम शाने ब शाने होते,

जिन्दगी मामूल पर आयी होती,

हसरतें अपनी मन्ज़िल पा चुकी होती,

टूट चुके सब्र के पैमाने होते।

 - राजीव ' हैरान '

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts