ख्वाब ख्याल   ' हैरान ''s image
Romantic PoetryPoetry1 min read

ख्वाब ख्याल ' हैरान '

Rajeev Kumar SainiRajeev Kumar Saini August 31, 2022
Share0 Bookmarks 16 Reads0 Likes

तुम कभी दिल से दूर नहीं,

जागूँ तो ख्याल तुम्हारे,

सोऊँ तो ख्वाब तुम्हारे।

 - राजीव ' हैरान '

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts