आलूदगी  ' हैरान ''s image
Poetry1 min read

आलूदगी ' हैरान '

Rajeev Kumar SainiRajeev Kumar Saini May 14, 2022
Share0 Bookmarks 97 Reads0 Likes

आज का दर्जा ए हरारत क्या है,

ये इन्सान की कुदरत से शरारत क्या है,

ये सब आलूदा हवा पानी का नतीजा है,

अब कोई ये बताए शराफ़त क्या है । - राजीव ' हैरान '


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts