विचार – प्रवाह –०२'s image
Article1 min read

विचार – प्रवाह –०२

R N ShuklaR N Shukla September 12, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
एक दिन ऐसा भी आएगा , जब

चिंघाड़ती मशीनों का जमाना  –

बीत जाएगा !

एक  चीज  जीवन्त रहेगी –

लेखनी !  वह  लिखेगी –

महाविनाश का जीवंत इतिहास ! 

और  सृजन का  नूतन अध्याय !




No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts