स्व-विस्तार's image
Article1 min read

स्व-विस्तार

R N ShuklaR N Shukla May 2, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
बिखरकर टूट जाने में 
 और बिखरकर फैल जाने में 
  बहुत बड़ा अंतर होता है। 
   बिखर कर फैल जाना मतलब –
    व्यष्टि को समष्टि में मिला देना ,
     अपना सबकुछ सुन्दर दे देना । 
                   ~~ राम निवास शुक्ल

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts