नजदीकियों से डर लगता है मुझे !'s image
Poetry1 min read

नजदीकियों से डर लगता है मुझे !

R N ShuklaR N Shukla April 4, 2022
Share0 Bookmarks 77 Reads0 Likes
पाँव  मत  छू  मेरा !

दूर ही से वन्दगी सलाम कर !

क्यूँ कि पाँव  छूने  वाले  ही  

अक्सर  पैर  खींच  देते हैं  !

नजदीकियाँ ! इतनी भी  

न बढ़ा  मुझसे  ! 

नजदीकियों से अब  –

डर लगता है मुझे !

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts