'जीवन-सार''s image
Share0 Bookmarks 64 Reads0 Likes
ऊर्जस्वित दृग बिंदु !

बन गया है अब यह जीवन मेरा !

'बिंदु-पथ के बिंदु' समेटे 

चमक उठा जीवन मेरा!

इस करुणामयहृदय-छोर से

निकली एक किरण जो–

न जाने कितने जीवन को 

करती ही गई आलोकित !

यही है,इस जीवन का'सार'यही है

अब  यह  जीवन! 'भार'नहीं है !


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts