अस्तित्व बचाओ !'s image
Poetry1 min read

अस्तित्व बचाओ !

R N ShuklaR N Shukla June 5, 2022
Share0 Bookmarks 80 Reads0 Likes
मानव हो तुम ! अस्तित्व बचाओ !

जंगली मत बनो ! जंगल बचाओ !

हथियार मत चलाओ– पेड़ों पर !

वृक्ष लगाओ – धरती पर !

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts