सोलहवाँ बसंत's image
Share0 Bookmarks 65 Reads0 Likes

सोलहवाँ बसंत है यौवन चटक रहा है

पुष्प की खोज में मधुकर भटक रहा है

फूल ही फूल खिले हैं बगिया में , परंतु

नज़र तो कंटीले फुल पर अटक रहा है

×××

©पुरुषोत्तम

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts