सच बोलकर's image
Share0 Bookmarks 7 Reads0 Likes

काँटों की चुभन से नहीं; मैं गुलों की नरमी से मारा जाऊंगा

बचपन में अम्मा ने कहा-झूठ बोला तो मिलेगी सज़ा

मगर देखना तुम,

सच बोलकर मैं इस वतन-ए-सियासत में मारा जाऊंगा। 


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts