// सुंदरता का अभिशाप //'s image
Poetry1 min read

// सुंदरता का अभिशाप //

Pratima PandeyPratima Pandey January 16, 2022
Share0 Bookmarks 116 Reads0 Likes



सुंदरता के अभिशाप से मुक्ति के लिए ,

मछलियां चाहती हैं कुरूप होना .. ।

अपने ईश्वर से प्रार्थना में वे कुछ मांगती नहीं ,

उल्टा लौटाना चाहती हैं उन्हें , उनकी दी सुंदरता ।

ताकि एक्वेरियम में कैद रहने की , वो और न भुगतें सजा ।

सजीव होकर बड़ा कष्टप्रद होता है ,जीना जीवन निर्जीव सा ।।

- ✍️प्रतिमा पांडेय


_______________________________________

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts