माँ के सामने's image
Poetry1 min read

माँ के सामने

Pratima PandeyPratima Pandey May 9, 2022
Share0 Bookmarks 57 Reads1 Likes



अपनी माँ के सामने बड़ा कौन रह पाता है ,

बूढ़े से बूढ़ा आदमी भी बच्चा हो जाता है ।

- प्रतिमा पांडेय

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts