कैसी चल रही है जिंदगी!'s image
Poetry2 min read

कैसी चल रही है जिंदगी!

@lko_pranay@lko_pranay July 19, 2022
Share0 Bookmarks 13 Reads1 Likes

कैसी चल रही है जिंदगी! 


रिस्क लिया काम बना या विरासत में मिला

उम्र 21, स्थिर जिंदगी, वो दुनिया अन्वेषण करे।

इधर जीवन है अस्थिर, लड़ाई सरकारी जाॅब की

अगली पीढ़ी भी शून्य से ही शुरू करे।


सोचता हूँ कुछ अलग करूँ, डरता लोग क्या कहेंगे

पड़ता नही फर्क मुझे, लेकिन अभिभावक को परेशान करे।

'जिसमें रूचि वो करो', फिर करता कोई सहयोग नही 

'मध्यम वर्ग लोग' हम पैशन कैसे फाॅलो करें।


"घरवाले पूछ रहे तुम्हारे बारे में, 'लड़का क्या करता'

रिश्ता आया है सरकारी नौकरी वाला, बताओ क्या कहें?"

"और कितने साल लगेगें, मै बता सकता नही

बेहतर होगा 'हाँ' कर दो, इससे ज्यादा क्या कहें।"


एक दिन दोस्त ने काॅल किया, मैने उठाया नही

सबकी स्थिति वही, समझ नहीं आता क्या कहें

मैने उससे पूछा अगले दिन, 'बता क्या बात थी?'

आवाज़ आई, 'बेटा वो रहा नही', अंकल मुझसे कहे।


छोड़ गया आधे रास्ते में, मुझे लगा साथ देगा

किसी को मतलब नहीं, अपना हाल किससे बयां करें।

उम्र 32, सब खुश, स्थाई मेरी जाॅब भी

कामयाबी है, दोस्त नही, अब सेलीब्रेट किसके साथ करें?


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts