एक दिन खुद ने किए गुनाहों को गिनते-गिनते रोने लगा's image
1 min read

एक दिन खुद ने किए गुनाहों को गिनते-गिनते रोने लगा

Pinak_ModhaPinak_Modha June 16, 2020
Share0 Bookmarks 42 Reads0 Likes
एक दिन खुद ने किए गुनाहों को गिनते-गिनते रोने लगा

एक रोज माँ का हँसता चेहरा देख चैन की नींद सोने लगा

- पिनाक 'मोढ़ा'

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts