Hope's image

थामा था सुबह की पहली किरण का हाथ,

जब किरणे क्षणिक ही चेहरे पे आ गिरे तो मायूस चेहरा भी खिल उठता है,किस कदर रस्ते को अपने रस्ते छोड़ आगे चले जाते हुए देखा है करीब से,

अपनी मंजिल को है पाने का हुनर तो किस बात की परेशानियों से घबराना,

थामा है जब चुनौतियों का दामन तो,अपनी काबिलियत पर भरोसा रख और कामयाबी की तलाश कर

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts