हर रोज़ ये काम किया है मैंने's image
Poetry1 min read

हर रोज़ ये काम किया है मैंने

KamilKamil February 19, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads1 Likes

मुहब्बत की, और एक इश्क़ भी तमाम किया है मैंने,

जिस रोज़ से देखा है उसे, हर रोज़ ये काम किया है मैंने;


उसके हिज्र का खुद को, खुद ही ग़ुलाम बना कर,

अच्छी गुज़र रही गुज़र का, अच्छा इंतिज़ाम किया है मैंने;


~कामिल


(https://www.youtube.com/shorts/PnWOd0iZTRc)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts