हरित-वाणी's image
Share0 Bookmarks 9 Reads0 Likes
#हरित_वाणी

शाम सैर की, रात पी, सुबह दिये उपदेश,
ना जाने एक आदमी, ओढ़े कितने भेष।

- नितिन कुमार हरित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts