कलम's image
Share0 Bookmarks 99 Reads1 Likes


कलम 

आसां न हो कहना जिसे 

बड़ी बेबाकी से कह देती है कलम 

गूंगी जुबां की आवाज है कलम 

एक नई क्रांति की शुरुआत है कलम ।


भावनाओं का विस्तार है कलम 

उमंगों की उड़ान है कलम

कभी दर्द भरी आवाज है कलम 

कभी नारों का जयघोष है कलम ।


कभी करूण वेदना सुनाती है कलम

कभी ज्वाला सी आग उगलती है कलम

कभी अदृश्य दृश्यों को दिखाती है कलम

कभी सपनों की जहां में ले जाती है कलम ।


मानवता का इतिहास है कलम

दुनिया का भूगोल है कलम

ज्ञानों का विज्ञान है कलम

संस्कृति की पहचान है कलम 

इंसानियत का प्रमाण है कलम

कलम है बस कलम।

 

रचनाकार :-निशांत कुमार 

ग्राम- हेमराजपुर पोस्ट -कामदेवपुर 

थाना अमरपुर जिला बांका (बिहार)

Twitter account:-@nishant_kmp

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts