चुप रहो's image
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes


चुप रहो चुपचाप सहो

 

समझ जाओ जो चुप रहेंगे वे बचेंगे

बोलने वालों को सिर में गोली के जरिये

सुराख़ बना कर मार डाला जायेगा

खामोश रहने वालों को

करीने से जुल्फें संवारने के लिए

रत्नजडित सोने के कंघे दिए जायेंगे.

 

चुप रहो चुपचाप सहो

अपने अपने बैडरूम में रह कर

क्रांति का ब्लूप्रिंट बनाओ

दिन रात अपने मंतव्यों के

कनकौए आसमान में उड़ाओ

ऐसे लोगों को खोज खोज कर

सुनहरे फ्रेम वाले बेशकीमती चश्मे दिए जायेंगे.

 

चुप रहो चुपचाप रहो

लेकिन बोलने का नाटक लगातार करो

रीढ़ की हड्डी निकाल कर रख दो

ड्राइंगरूम के शोकेस में

वह वहीँ रखी जंचती है

लचीलापन की बड़ी जरूरत है इस वक्त

समयानुकूल घडियां कलाई पर बाँधी जाएँगी.

 

चुप रहो चुपचाप सहो

तोल मोल कर प्रेमगीत लिखो

मांसल शब्दों से लोकप्रिय गल्प रचो

बात बात पर ठहाके लागाओ

जब तब उछालो हवा में मुट्ठियाँ

जग को रिझाने के लिए

राजसी मुहर वाले दिव्य कवच मिलेंगे .

 

चुप रहो चुपचाप सहो

अपने मौन का भीतर ही भीतर मजा लो

तुम्हारी चुप्पी को कोई अन्यथा नहीं लेगा

यह बात एकदम पक्की है

इतिहास सिर्फ नादानी में जान गंवाने वालों की

मूर्खता अपने पन्नों में दर्ज करता है

प्रशस्ति तुम्हारी है तुम्हें मिलेगी .

 

चुप रहो चुपचाप सहो

सीने से लगा कर रखो

अपने अपने इनाम इकराम को

इन्हें संभाल कर रखो

ये रहेंगे तो तुम सब जिंदा रहोगे

तुम अमरबेल के वंशज हो

मौत तुम्हें किसी भाव न मिलेगी.

 

चुप रहो चुपचाप सहो

और सुनना है तो मेरी सुनो

ख़ामोशी और चालाकी की

कोई पॉलिटिक्स नहीं होती पार्टनर

चुप रह जाने वाले कापुरुष को

कोई दर्द नहीं सताता

वे जीते जी ,बेमौत मर जाते हैं .


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts