कर्म's image
Share0 Bookmarks 95 Reads0 Likes

इंसान का जीवन उसके कर्मों का उपवन,

उसके कर्मों के रंग से हरा भरा उसका जीवन,

लकीरें नहीं बनाती इंसान को बलवान,

कर्म ही बनाते है उनके जीवन को महान,

आते है बहुत मुकाम आते है बहुत मुकाम,

जब वेवश हो जाता है अपने ही हौसले से,

बुलंदी छू पाता है।

ना उम्र का बंधन ना मायूसियों का डर,

जुनून हो जज़्बात में बढते रहो निडर,

विश्वास अपने ऊपर चलते गिर उठकर,

हासिल होगा वो सब जिसके जिसके लिए,

तड़पते रहे जीवन भर,

कुंदन बन निखरता आग में तपकर,

जीवन संवरता टोकरे खाकर।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts