बंधन's image

बंधन*

मेरी अपनी सोच,

जब हमने छुपकर देखा उनको,

महसूस हुआ कुछ ऐसा,

ए मेरे जीवन साथी है,

स्वभाव होगा कैसा,

जब पहली बार मिले,

प्यार के फूल खिले,

हम सफर बन जीवन ,

के पथ पर निकले,

बीते दिन की यादें,

आज भी खोए रहते हैं,

उस प्यार भरे मिलन को,

दिल में सजोए रखते है

एक अनजाने सफर पर,

मन में बेचैनी रहती है,

कैसा होगा जीवन हर,

लड़की सोचती रहती है,

नवजीवन का शुरुआत,

अनजाना होता है।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts