उल्लू's image
Share0 Bookmarks 25 Reads0 Likes

शाखों पर बैठा करते थे कभी

आजकल शहरों में आ बसे हैं

अपनी कहते अपनी ही सुनते

बे सिर-पैर की हाँका करते हैं।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts