शौहरत's image
Share0 Bookmarks 30 Reads2 Likes

गुमनामियों में रहना शौक था मेरा

क्या करूँ मेरी शौहरत ढूँढ ही लेती है ।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts