समुंदर's image
Share0 Bookmarks 7 Reads0 Likes

एक गहरी सी झील को

खुद में समेटे फिरता हूँ

डूब जाने को किसी

समुंदर की दरकार नहीं।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts