समीकरण's image
Share0 Bookmarks 21 Reads0 Likes

समय का समीकरण यूँ बदला

जीवन कोष्ठक सा हुआ है

ना कुछ कमाया ना ही गंवाया

सब कुछ बराबर हुआ है ।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts