समयचक्र's image
Share0 Bookmarks 26 Reads0 Likes

आरंभ से अंत तक

धरती से अनंत तक

समय का आतंक है

समय बड़ा बलवंत है


समयचक्र चलता रहे

कभी रूके न कभी थके

जीवन आते जाते हैं

समय से जीत न पाते हैं।


मं शर्मा( रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts