रोज़गार's image
Share0 Bookmarks 8 Reads0 Likes

बड़े दिनों तक

बेरोज़गार फिरा जो

उस दिल को

नया रोज़गार मिला है


ख्यालों में खोने का

ख्वाब बुनने का

उलझनें पालने का

कारोबार मिला है ।


मं शर्मा( रज़ा)

#स्वरचित


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts