परवाज़'s image
Share0 Bookmarks 16 Reads0 Likes

उड़ चला है

सोच का परिंदा

चाहतों के

आसमान पर


देखना है

हौसलों में

कितनी परवाज़

बाकी है ।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित





No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts