परंपरा's image
Share0 Bookmarks 14 Reads0 Likes

बंधन न समझ

परंपरा है तेरी

तेरी पहचान

ज़मीन है तेरी


तेरा व्यक्तित्व

देन है इसकी

जीवन की ये

धुरी है तेरी ।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts