मिट्टी's image
Share0 Bookmarks 36 Reads1 Likes

मिट्टी में सना हूँ

मिट्टी में जन्मा हूँ

एक दिन मिट्टी में

मिल जाऊँगा


सिर पर बोझ हो

कि जीवन बोझ हो

कभी न मैं रूकता हूँ

नित नया बोझ उठाता हूँ।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts