खिड़की's image
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes

यादों की खिड़की खोल

दिल तन्हा खड़ा रह गया

साथ मिल कर बसाया जो

आशियाना बिखर गया ।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts