इबादत's image
Share0 Bookmarks 6 Reads0 Likes

ये रूठना मनाना

खुदा की नेमत

सबको नसीब कहाँ

उल्फत की दौलत


है चाहत हमारी

खुदा की इबादत

याद करेगा ज़माना

तेरी मेरी चाहत।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts