घर's image
Share0 Bookmarks 15 Reads0 Likes

खुला आसमान घर जिसका

कहीं उसका दिल नहीं लगता

पिंजरा सोने का कि चाँदी का

कभी घर हो नहीं सकता ।


मं शर्मा( रज़ा)


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts