दीवानगी's image
Share0 Bookmarks 29 Reads0 Likes

इबादत थी कि दीवानगी

बड़ी शिद्दत से करते चले गए

प्यार था नज़र में आ गया

बिलावजह नज़रें चुराते रह गए।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts