दंश's image
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes

जन्म मिला

जीवन मिला

मानव होने का

दंड मिला


आनंद मिला

एकांत मिला

फिर भी मन

अशांत मिला


एक पल मिला

न सुकून का

बेचैनी का

दंश मिला।


मं शर्मा( रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts