चलते चलते's image
Share0 Bookmarks 9 Reads0 Likes

इस इंसानियत से छिपते छिपाते

चलते चलते पहुँचें ऐसी जगह पे

कुछ दूर तुम से कुछ दूर मुझसे

चल चलें कहीं दूर इस जहां से ।



मं शर्मा( रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts