अंदाज़ा's image
Share0 Bookmarks 31 Reads0 Likes

इतनी देर होगी

गुमां न था

फिर संभलने का

सामां न होगा

पता न था


क्या छूटा है

क्या टूटा है

कोई जाने कैसे

इस बात का

अंदाज़ा न था ।


मं शर्मा (रज़ा)


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts