आँसू's image
Share0 Bookmarks 27 Reads1 Likes

रोक न इस खारे पानी को

आँखों के रास्ते बह जाने दे

ज़ुबां कह न सकी अब तक

उसे आँसुओं को कहने दे ।


मं शर्मा (रज़ा)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts