अलग अलग's image
Share0 Bookmarks 17 Reads0 Likes

जो राहों पर मिले थे

वो रास्ते भटक गए

रास्ते जो मिल गए थे

अलग अलग हो गए


रास्तों का कुसूर था

न काफिले की खता

नसीब था जुदा होना

अलग अलग हो गए।


मं शर्मा (रज़ा)

#स्वरचित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts