आईना's image
Share0 Bookmarks 8 Reads0 Likes

चेहरों पर नित नए चेहरे देखता हूँ

इस दिल पर बोझ लिए जीता हूँ

आईना दिखाना काम है मेरा

सच कैसे बताऊँ यही सोचता हूँ ।



मं शर्मा (रज़ा)




No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts