पुराना दोस्त's image
Poetry1 min read

पुराना दोस्त

mail.sunil3sharmamail.sunil3sharma May 2, 2022
Share0 Bookmarks 19 Reads0 Likes

#इतना पाया नहीं शायद।

जितना की खो दिया मैंने।।

#गल्ती मेरी थी मेरी ही थी।

पुराना दोस्त खो दिया मैंने।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts