ख़त's image
Share0 Bookmarks 48 Reads0 Likes

#तेरे ख़ाली ख़त ही।

मेरे इश्क़ का हिसाब हैं।।

#हो सकता है शायद।

मेरी लिखाई ही ख़राब है।।

#पहले न समझा अब समझा बेदख़ल।

तेरा चुप रहना मेरे सवाल का जवाब है।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts