खफ़ा's image
Share0 Bookmarks 11 Reads0 Likes

#सज़दा तो कर लेते मग़र

 ख़ुदा कहीं मिला ही नहीं।

#दवा देने वाले हैं बहुत

 दुआ देने वाला मिला ही नहीं।

#सब दूर क्यूँ तुझसे बेदख़ल

 वज़ह क्या थी पता चला ही नहीं।

#गिला नहीं कर दो सरेआम मुझे

  राज़दार कभी कोई था ही नहीं।

#मनाया तो रुठों को जाता है 

  हम तो कभी खफ़ा थे ही नहीं।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts