असली घर's image
Share0 Bookmarks 41 Reads0 Likes

#न जानें कब हो जाएं।

 अपने घर से ही बेघर।।

#जब तक है तब तक कर।

 अपनो मे अपनो की क़दर।।

#आज ही करले बेदख़ल।

 कल का किसी से वादा न कर।।

#किराये का है ये मकाँ।

 क़ब्र ही है तेरा असली घर।।

#मरना सभी को इक दिन।

 अपनी उम्र पूरी हो जाने पर।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts