गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन's image
Kavishala SocialPoetry1 min read

गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन

Magadha TimesMagadha Times September 27, 2021
Share0 Bookmarks 14 Reads0 Likes

गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन हम से

माँ का बिकता हुआ ज़ेवर नहीं देखा जाता।


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts