गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन's image
Kavishala SocialPoetry1 min read

गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन

Magadha TimesMagadha Times September 27, 2021
Share0 Bookmarks 9 Reads0 Likes

गरीबी अपनी जगह ठीक है, लेकिन हम से

माँ का बिकता हुआ ज़ेवर नहीं देखा जाता।


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts