किसी का मोहब्बत में भला न हो सका..'s image
Romantic PoetryPoetry1 min read

किसी का मोहब्बत में भला न हो सका..

AnkswritesAnkswrites April 21, 2022
Share0 Bookmarks 68 Reads2 Likes

ये तेरा ज़र्फ़ हैं कि तू मेरा न हो सका

ये मेरा ज़र्फ़ हैं कि मैं तेरा न हो सका


मैं तो एक शख्स का इतना हुआ कि

जितना मैं खुद का भी न हो सका


सब को यहां एक ही चीज़ ने बर्बाद की

किसी का मोहब्बत में भला न हो सका


कच्ची उम्र का लड़का ग़ज़ल लिख रहा हैं

जो काम कभी बुजुर्गों से भी न हो सका 


मुझ को मेरे ख़्वाब इस लिए भी पसंद हैं कि

ख़्वाब में वो हुआ जो हकीकत में न हो सका


सिर्फ़ मेरे लिए वो सब कुछ नहीं छोड़ सकता था

और मैं उस के सिवा किसी गै़र का न हो सका


तुम जब चाहो मुझ को पास बुला लो 'अंकित'

तुम्हारे लिए मैं कभी गुज़रा हुआ वक्त न हो सका


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts