पंछी's image
Share0 Bookmarks 14 Reads0 Likes



सब अपने मन में रह गए

हम अपनेपन में रह गए


लौटके न आए शज़र पर

पंछी कुछ गगन में रह गए


"निर्गुण"


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts