कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।'s image
Romantic PoetryPoetry3 min read

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।

LALBAHADURLALBAHADUR February 11, 2022
Share0 Bookmarks 28 Reads1 Likes

कुछ बारिशों से प्यार है

कुछ बादलों से प्यार है

कुछ घटाओं से प्यार है

कुछ छटाओं से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ हवाओं से प्यार है

कुछ फिजाओं से प्यार है

कुछ बहारों से प्यार है

कुछ नजारों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ नन्हीं गैरैयों से प्यार है

कुछ चहक मैना से प्यार है

कुछ मधुमालती से प्यार है

कुछ चमेली बेला से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ कड़वे नीम से प्यार है

कुछ घुप्प अंधेरों से प्यार है

कुछ मुसीबतों से प्यार है

कुछ इम्तहानों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ दोस्तों से प्यार है

कुछ दुश्मनों से प्यार है

कुछ अपनों से प्यार है

कुछ परायों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ तेरी जुल्फों से प्यार है

कुछ तेरी निगाहों से प्यार है

कुछ तेरी बातों से प्यार है

कुछ तेरे जज्बातों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ तेरी यादों से प्यार है

कुछ तेरी मुस्कानों से प्यार है

कुछ तेरी उंगलियों से प्यार है

कुछ तेरी हथेलियों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।



कुछ तेरी गजलों से प्यार है

कुछ तेरे गीतों से प्यार है

कुछ तेरे खतों से प्यार है

कुछ तेरे फसानों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।



कुछ तेरे इजहार से प्यार है

कुछ तेरे इन्कार से प्यार है

कुछ तेरे मिलने से प्यार है

कुछ तेरे बिछ़ड़ने से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।


कुछ तेरी अदाओं से प्यार है

कुछ तेरी शोखियों से प्यार है

कुछ तेरे इरादों से प्यार है

कुछ तेरे इशारों से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है।



कुछ तुम्हारे गीतों से प्यार है

कुछ तुम्हारे मनमितो से प्यार है

कुछ तो करें धड़कन से प्यार है

कुछ तुम्हारे तड़पन से प्यार है

कैसे कह दूं कि सिर्फ तुमसे प्यार है ।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts